भागलपुर में मिड डे मील खाने से 200 से अधिक बच्चों की तबीयत ख़राब

बिहार के भागलपुर में मिड डे मील खाने से 200 से अधिक बच्चों की तबीयत बिगड़ गई. बताया जा रहा है कि यहां स्कूल में बच्चों ने बुधवार दोपहर में खाना खाया था.  देशभर में शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार की सबसे महत्वपूर्ण योजना ‘मिड डे मील’ (Mid Day Meal) एक बार फिर चर्चा में है. बिहार के भागलपुर (Bhagalpur) में मिड डे मील खाने से 200 से अधिक बच्चों की तबीयत बिगड़ गई. बताया जा रहा है कि यहां स्कूल में बच्चों ने बुधवार दोपहर में खाना खाया था. जिसके बाद स्कूल में ही उनकी तबीयत बिगड़ने लगी. खाना कितना खतरनाक था कि इस बात का आंदाजा आप इस बात से लगा सकते हैं कि शाम तक सभी बच्चों के इलाज के लिए भीड़ लग गई.

करीब 30 बच्चों की स्थिति गंभीर

उधर, बच्चों की तबीयत बिगड़ने की खबर मिलने बाद परिजन भी स्कूल पहुंचे. इस दौरान परिजनों ने स्कूल प्रशासन पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है और कार्रवाई की मांग की है. बताया जाता है कि मिड डे मील खाने के बाद करीब 200 के आसपास बच्चे बीमार हुए. इनमें से कुछ ठीक हो गए जो घर लौट चुके हैं. जबकि गुरुवार की देर शाम तक 100 से अधिक बच्चे भर्ती थे. इनमें से करीब 30 बच्चों की स्थिति गंभीर है. इधर, छिपकली मिलने के बाद भी छात्रों ने हेडमास्टर पर जबरदस्ती खाने खिलाने का आरोप लगाया है.

हेडमास्टर पर जबरदस्ती खाना खिलाने का आरोप

बताया जा रहा है कि एक छात्र की थाली में छिपकली मिली थी. जब इसकी शिकायत डेहमास्टर चितरंजन प्रसाद सिंह से की गई तो उन्होंने कहा कि बैंगन की डंडी है, चुपचाप खा लो. कुछ छात्रों ने ये भी बताया कि उन लोगों ने जब खाने से इनकार किया तो हेडमास्टर ने जबरदस्ती खाना खिलाया.

About न्यूज़ ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया

News Trust of India न्यूज़ ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया

ăn dặm kiểu NhậtResponsive WordPress Themenhà cấp 4 nông thônthời trang trẻ emgiày cao gótshop giày nữdownload wordpress pluginsmẫu biệt thự đẹpepichouseáo sơ mi nữhouse beautiful