भोपाल में 9 दिन की एक मासूम कोराना पॉजिटिव पाई गई

भोपाल. राजधानी में 9 दिन की एक मासूम कोराना पॉजिटिव पाई गई है। उसे यह संक्रमण जन्म के क्षणों में ही मिल गया था। आंख खोलने के साथ ही उसका सामना कोराेना से हुआ। क्योंकि मां का सिजेरियन कर उसे इस दुनिया में लाने वाली चार में से एक डॉक्टर संक्रमित थी। बच्ची अब मां के आंचल की छांव में ही बीमारी से लड़ रही है। मां को कोरोना का संक्रमण नहीं पाया गया है।

सुल्तानिया अस्पताल के डॉक्टर्स के मुताबिक बरखेड़ी में रहने वाली प्रसूता को 6-7 अप्रैल की दरमियानी रात डिलीवरी के लिए भर्ती किया गया था। इसका इलाज पहले से इसी अस्पताल की डॉ. भारती परिहार द्वारा किया जा रहा था। 7 अप्रैल को सुबह 11 बजे प्रसूता को सिजेरियन डिलीवरी के लिए ऑपरेशन थियेटर ले जाया गया। ऑपरेशन में तीन डॉक्टर शामिल थीं। इनमें एक जूनियर डॉक्टर की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट 7 अप्रैल को आई। आशंका जताई जा रही है कि ऑपरेशन के वक्त मौजूद जूनियर डॉक्टर से बच्ची को संक्रमण हुआ होगा। हालांकि इसकी पुष्टि नहीं हुई है। बच्ची के रिश्तेदार ने बताया कि 16 अप्रैल को अस्पताल में टांके कटवाने बुलाया गया था। इस दौरान कोरोना टेस्ट के लिए बच्ची और मां के सैंपल लिए गए थे।

कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 189 से बढ़कर 216 पर पहुंची
उधर, राजधानी में रविवार को 450 सैंपल की रिपोर्ट आई है, जिनमें से 27 नए पॉजिटिव मिले हैं। शहर में पहली बार एक ही दिन में इतने पॉजिटिव मिले हैं। इनमें दीनदयाल रसोई में काम करने वाला नगर निगम कर्मचारी, एक दूधवाला, पांच जमाती, चार पुलिस कर्मचारी और चार अन्य बच्चे भी शामिल हैं। भोपाल में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 189 से बढ़कर 216 पर पहुंच गई है। 15 दिन में भोपाल में कोरोना के 174 मरीज मिले चुके हैं।

तीन लोगों में नहीं थे लक्षण, लेकिन रिपोर्ट पॉजिटिव 
शहर में कोरोना पीड़ितों के इजाफे के बीच सामने आया है कि इनमें से कई में इसके लक्षण नहीं मिले लेकिन जांच कराने पर रिपोर्ट पाॅजिटिव आई है। इनमें सांची पार्लर संचालक, दीनदयाल रसोई में प्रबंधन देख रहे निगमकर्मी और एक किसान का मामला ऐसा है। इनमें कोरोना के कोई लक्षण नहीं थे, वे तो कैंप लगने पर यूं ही जांच कराने चले गए थे।

डीएसपी के ड्राइवर समेत 4 पुलिसकर्मी और दो आशा कार्यकर्ता की रिपोर्ट पॉजिटिव
इस बीच कोरोना का दायरा शहरी क्षेत्र से आगे बढ़ते हुए अब ग्रामीण इलाकाें में भी जा पहुंचा है। ईंटखेड़ी सब सेंटर और काेलार इलाके की आशा कार्यकर्ता काेराेना पाॅजिटिव मिली हैं। दाेनाें काे चिरायु अस्पताल में भर्ती कराया है। जबकि, परिजनाें समेत संपर्क में आने वाले 60 से ज्यादा लाेगाें काे गांधी नगर में बनाए गए क्वारेंटाइन सेंटर में रखा गया है। दाेनाें के सैंपल चार दिन पहले लिए गए थे। ये आशा कार्यकर्ता शनिवार तक अपने क्षेत्र में घर-घर जाकर सर्वे कार्य कर रहीं थीं। इधर ईंटखेड़ी पंचायत के एक किसान में करोना पुष्टि हुई है। पिछले कुछ दिनों से वो भी जरूरतमंद लोगों को खाना बांटने काम कर रहे थे। उनको आशंका है कि उनको यहीं से कोरोना हुआ होगा। इधर, बाबा नगर झुग्गी बस्ती में तीन लोग कोराेना संक्रमित पाए गए हैं।

About न्यूज़ ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया

News Trust of India न्यूज़ ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ăn dặm kiểu NhậtResponsive WordPress Themenhà cấp 4 nông thônthời trang trẻ emgiày cao gótshop giày nữdownload wordpress pluginsmẫu biệt thự đẹpepichouseáo sơ mi nữhouse beautiful