Templates by BIGtheme NET

उत्तराखंड में पर्यटन पालिसी शीघ्र तथा प्रचार तंत्र जोरो पर – डॉ. मीनाक्षी सुंदरम

विश्व पर्यटन दिवस के अवसर पर राजपुर रोड स्थित होटल में आयोजक ” दिव्य हिमगिरि” पत्रिका तथा सह आयोजक उत्तराखंड मानवाधिकार संरक्षण केन्द्र की ओर से विचार गोष्ठी ‘उत्तराखंड की कला साहित्य और संस्कृति की विरासत के साथ पर्यटन का विकास’ केंद्रित कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सचिव, पर्यटन एवं संस्कृति, उत्तराखंड शासन डा0 आर.मीनाक्षी सुंदरम थे . पर्यटन सचिव ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि 2013 के बाद की आपदा के बाद उत्तराखंड में पर्यटन को उभरने में थोड़ा समय लगा है, लेकिन आज उत्तराखंड में पर्यटन की स्थिति पहले से अधिक मजबूत हो रही है। राज्य में जीडीपी का कुल 30 प्रतिशत पर्यटन से प्राप्त हो रहा है। तथा पर्यटन में अगर सूधार आयेगा तो रोजगार का सृजन अधिक होगा। उन्होंने बताया कि देश में पर्यटन के क्षेत्र में उत्तराखंड का 17 वां स्थान है ।

हमारे यहां विदेशी सैलानियों का आगमन कम होता है, तथा ज्यादातर विदेशी सैलानी ऋषिकेश में मांउटनेयरिंग करने के लिए आते हैं। विदेशों में ऋषिकेश का नाम अधिक चर्चित है इसलिए हमें पर्यटन में अधिक सुधार की आवश्यकता है ताकि अधिक से अधिक सैलानियों को उत्तराखंड में आमंत्रित किया जा सके, तथा उन्होंने जानकारी भी दी कि उत्तराखंड में धार्मिक श्रद्धालु पर्यटकों के मुकाबले अधिक आते है। मांउटनेयरिंग और एडवेचर टूरिज्म की जो सुविधाएं हिमाचल के पास पहले से ही विकसित है वह अब हमारे पास भी है इसके बावजूद फिर भी यहां पर्यटको का काम आने के पीछे प्रचार-प्रसार में कुछ कमिया रह गई थी जिन्हे अब हम सोशल मीडिया के माध्यम से शीघ्र ही बड़े स्तर पर प्रचारित करने कि योजना को अमल में लाने में जुटे हुए है, तथा साथ ही नई टूरिज्म पाॅलिसी को नवंबर माह के आखिरी सप्ताह में लागू करने वाले है, हम प्रयास कर रहे हैं कि पर्यटक चार धाम के साथ-साथ अन्य ऐतिहासिक तथा धार्मिक स्थलों के दर्शन करने भी आए।

हमने इन नवरात्रों में एक नई पहल की है जिसमे उत्तराखंड के प्रसिद्ध शक्ति सिद्ध पीठों का प्रचार-प्रसार करने के उद्देश्य से एक विज्ञापन कैंपेन भी चलाया, इस पर हम अभी और आगे भी कार्य करेंगे। हम पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए राज्य के प्रत्येक जिले में एक नया टूरिस्ट डेस्टिनेशन विकसित करने जा रहे हैं जिससे ज्यादा से ज्यादा सैलानी यहां आएं, प्रत्येक टूरिस्ट डेस्टिनेशन एक अलग थीम पर होगा, इसके लिए कल होने वाली मंत्रिपरिषद की बैठक में लैंड बैंक बनाने के लिए प्रस्ताव लाया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि विंटर टूरिज्म को भी बढ़ावा देने की आवश्यकता है, विंटर टूरिजम को डेवलप करने के लिए फांस के सहयोग से औली को एक इंटरनेशनल टूरिस्ट डेस्टिनेशन के रूप में विकसित किया जा रहा है। बाहरी राज्यों में पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए काफी प्रचार- प्रसार किया जाता है जबकि उत्तराखंड प्रचार- प्रसार में मामले में अभी काफी पीछे है। हाल ही में हमारी आर्थिक विकास दर में भी कमी आई है जो कि 7.9 से 5.9 हो गई है, हम राज्य में टूरिज्म सेक्टर को बढ़ावा देकर अपनी आर्थिक विकास दर को बढ़ाने का प्रयास कर रहे है।

हम माननीय प्रधानमंत्राी जी की पहल पर राज्य में 5 अक्टूबर से 25 अक्टूबर तक घरेलू पयर्टन को बढावा देने के लिए 20 टूरिस्ट डेस्टिनेशनों पर 20 दिन के ऐसे कार्यक्रमों का आयोजन करने जा रहे है जिनसे घरेलू पर्यटन को बढ़ावा मिले। हम उत्तराखंड के व्यंजनों के प्रचार-प्रसार के लिए भी एक बड़ा फ़ूड फेस्टिवल का आयोजन करने जा रहे है। हमने टूरिज्म के प्रचार प्रसार को राष्ट्रीय स्तर पर एक बेहतर ढंग से बढ़ने के लिए दो मीडिया क्षेत्र की दिग्गज कंपनियों को भी कंसल्टेंट के रूप में नियुक्त किया है।

इस अवसर पर पर्यटन सचिव डॉ. मीनाक्षी सुंदरम ने आजोजक दिव्य हिमगिरि द्वारा प्रकाशित पुस्तिका “उत्तराखंड प्रसिद्ध सिद्ध शक्ति पीठ” का विमोचन किया। उन्होेंने कहा कि हम अपने राज्य के टूरिस्ट डेस्टिेशनों के बारे में साहित्य का संकलन करके दुनिया भर में टूरिज्म का प्रचार-प्रसार कर सकते है। उन्होंने कहा कि हम ओपन पब्लिक फोरम पर संवाद करके पर्यटन विकास की कमियों को दूर करने का प्रयास करेंगे।

इस अवसर पर कार्यक्रम की अध्क्षता कर रहे पद्मश्री लीलाधर जगूडी ने कहा कि हमें धर्मिक पर्यटन पर ही आश्रित रहने की आवश्यकता नहीं होनी चाहिए, उन्होंने कहा कि राजस्थान टूरिज्म के माॅडल को यहां भी अपनाने की आवश्यकता है, राजस्थान ने अपनी कला, साहित्य, संस्कृति, संगीत, नृत्य, हस्तकला, लोक गायन, परिधान, व्यंजनों का विकास करके उसकी दुनिया भर में मार्केटिंग की है और यहां तक की उन्होंने अपनी रेत को भी दुनियाभर में प्रचारित कर प्रसिद्धि पा ली है। हमारे यहां तो बुग्याल, नदियां, धाम, ऐतिहासिक स्थल, साहसिक पर्यटन के अलावा लोक गायन, वादन, कला, साहित्य, संस्कृति आदि बहुत कुछ है जो हमें दूसरें राज्यों से यूनिक बनाती है। उन्होंने कहा कि यहां पर इस तरह की व्यवस्था करनी चाहिए जिससे 12 महीने पर्यटक आएं।

कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि एस.एस. पांगती ने कहा कि राज्य में पर्यटन की काफी संभावनाएं है । पर्यटन को विंटर गेम्स के साथ जोड़कर आगे बढ़ना चाहिए। डा0 आर.के. वर्मा ने कहा कि उत्तराखंड को फिल्म जगत से जोड़कर व यहां पर फिल्म इंडस्ट्री को बढ़ावा देकर पर्यटन को बढ़ाया दिया जा सकता है। डा0 ए.के. काम्बोज ने कहा कि राज्य में मेडिकल टूरिज्म की अपार संभावना है तथा नए टूरिस्ट डेस्टिनेशनों को वेलनेस डेस्टिनेशन के रूप में विकसित किया जाना चाहिए।

सुनील अग्रवाल ने सुझाव देते हुए कहा कि पर्यटन को बढावा देने के लिए सड़कों और पार्किग व्यवस्था को दुरस्त किया जाना चाहिए जिससे जो भी पर्यटक यहां आए अच्छा संदेश लेकर जाए। इस मौके पर पर्यटन विभाग के संयुक्त निदेशक विवेक चौहान, वरिष्ठ शोध अधिकारी सुरेंद्र सांवत, यूको बैंक के जोनल हैड एलपी सिंघल, जिला ग्रामोद्योग अधिकारी डा. अलका पांडेय, पद्मश्री वैद्य बालेन्दु प्रकाश, पीएचडी चैंबर आफ कामर्स एंड इंडस्ट्री के अध्यक्ष एस.पी. कोचर, आइस हाॅकी संघ के अध्यक्ष अरविंद गुप्ता, फुटबाल रेफरी एसोसिएशन के वीएस रावत, अपना परिवार के संयोजक पुरूषोत्तम भट्ट एवं संजय श्रीवास्तव, यूएचएमआईटी के चैयरमैंन ललित मोहन जोशी, पिछड़ा वर्ग आयोग के पूर्व अध्यक्ष अशोक वर्मा, कायस्थ महासभा की अध्यक्षा डा. ज्योति श्रीवास्तव, दून क्लब के पूर्व अध्यक्ष अजय श्रंगारी, भाषा संस्थान के पूर्व सचिव डा. मुनिराम सकलानी, एमकेपी हिंदी विभागाध्यक्ष डा. विद्या सिंह, डा. आलोक जैन, दून डिफेन्स एकेडमी के चैयरमेन संदीप गुप्ता, रोटी बैंक के संयोजक हिमांशु पुंडीर, सर्वसमाज के अध्यक्ष रामकुमार वालिया, विश्व संवाद केंद्र के संयोजक हिमांशु अग्रवाल, पूर्व पुलिस अधिकारी जगराम, माई एडवेंचर क्लब की संस्थापक शिवानी गुंसाई, उत्तराखंड मानवाधिकार संरक्षण केंद्र के सचिव कुंवर राज अस्थाना, राजीव वर्मा, सुनील अग्रवाल, राजेश वासु, आरके साधु आदि काफी संख्या में गणमान्य नागरिकों ने कार्यक्रम में शिरकत की।

About News Trust of India

News Trust of India is an eminent news agency

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ăn dặm kiểu NhậtResponsive WordPress Themenhà cấp 4 nông thônthời trang trẻ emgiày cao gótshop giày nữdownload wordpress pluginsmẫu biệt thự đẹpepichouseáo sơ mi nữhouse beautiful