Templates by BIGtheme NET
Suresh Prabhu offers to resign on moral ground

प्रभु की इस्तीफे की पेशकश, पीएम ने नहीं दी हरी झंडी

एनटीआई न्यूज़ ब्यूरो.

रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने यूपी में हाल में हुए दो बड़े रेल हादसों की जिम्मेदारी लेते हुए पीएम नरेंद्र मोदी को इस्तीफे की पेशकश की है. उन्होंने ट्वीट करके इन हादसों की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए इन हादसों को दुर्भाग्यपूर्ण और दुखद बताया है. प्रभु ने कहा कि इस्तीफे की पेशकश के बाद पीएम ने उन्हें इंतजार करने के लिए कहा है. बुधवार को एक के बाद एक कई ट्वीट्स करके उन्होंने न केवल इन हादसों की नैतिक जिम्मेदारी ली, बल्कि अपना पक्ष रखने की भी कोशिश की. पहले उत्कल एक्सप्रेस और फिर कैफियत एक्सप्रेस हादसे के बाद प्रभु आलोचकों के निशाने पर हैं और विपक्ष ने उनका इस्तीफा मांगा है.

प्रभु ने ट्वीट में लिखा है, ‘मैंने माननीय पीएम नरेंद्र मोदी से मिलकर पूरी नैतिक जिम्मेदारी ली है. माननीय पीएम ने मुझे इंतजार करने को कहा है. मुझे इन दुर्भाग्यपूर्ण घटनाओं, यात्रियों के घायल होने और उनको हुए जानमाल के नुकसान से बहुत ज्यादा दुख पहुंचा है।’

प्रभु ने कहा है कि पीएम मोदी की अगुआई में न्यू इंडिया को एक ऐसे रेलवे की जरूरत है जो सक्षम और आधुनिक हो. उन्होंने कहा, ‘मेरा वादा है कि रेलवे उसी रास्ते पर आगे बढ़ रहा है।’ उन्होंने बताया कि पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में दशकों से तिरस्कृत रेलवे को बढ़ाने के लिए सभी क्षेत्रों में चरणबद्ध सुधार की कोशिशें की गयीं, जिसके नतीजे में अभूतपूर्व निवेश और उपलब्धियां हासिल हुई हैं.

प्रभु ने भावुक अंदाज में लिखा है, ‘तीन साल से कम वक्त के दौरान बतौर मंत्री रेलवे की बेहतरी के लिए मैंने अपना खून-पसीना बहाया है।’

 

utkal express derailed

लापरवाह है रेलवे प्रशासन!

इससे पहले, रेलवे बोर्ड के चेयरमैन एके मित्तल ने इन हादसों की ज़िम्मेदारी लेते हुए इस्तीफा दे दिया. बीते एक हफ्ते में दो रेल हादसों के बाद रेलवे प्रशासन पर लापरवाही के आरोप लग रहे हैं. शनिवार को मुजफ्फरनगर जिले के खतौली में कलिंग-उत्कल एक्सप्रेस के हादसे में 22 लोगों की जान चली गई थी जबकि 200 से ज्यादा लोग घायल हुए थे.

इसके बाद, बुधवार को आजमगढ़ से दिल्ली जाने वाली कैफियत एक्सप्रेस एक बालू के डंपर से टकरा गई, जिसकी वजह से 78 लोग घायल हो गए. उत्कल एक्सप्रेस हादसे में बिना किसी को जानकारी दिए पटरी की मरम्मत किए जाने की बात सामने आई थी.

हादसों पर घिरने के बाद सुरेश प्रभु ने उत्कल रेल हादसे पर जिम्मेदारी तय करने को कहा था. इसके बाद, रेलवे ने बड़ी कार्रवाई करते हुए उत्तर रेलवे के जीएम आरएन कुलश्रेष्ठ और दिल्ली क्षेत्र के डीआरएम आर.एन. सिंह को छुट्टी पर भेज दिया था. पी-वे डिपार्टमेंट के जेई, एसएसई, सेक्शन के एईएन और दिल्ली के सीनियर डीईएन समेत कुछ अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया गया जबकि चीफ ट्रैक इंजीनियर का भी तबादला कर दिया गया था.

About News Trust of India

News Trust of India is an eminent news agency

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ăn dặm kiểu NhậtResponsive WordPress Themenhà cấp 4 nông thônthời trang trẻ emgiày cao gótshop giày nữdownload wordpress pluginsmẫu biệt thự đẹpepichouseáo sơ mi nữhouse beautiful