Templates by BIGtheme NET

पहाड़ी सुंदरता से मॉडलिंग के चरम पर है अनुकृति गुसाईं

जब हम कभी पहाड़ों की सैर पर जाते हैं तो मन में असीम शांति का अनुभव होता है। खूबसूरत वादियां, बहते झरने के झर-झर की आवाज़, खूबसूरत पहाड़, बहती नदियां और इन सब नजारों को निहारती हमारी आँखे। कहते हैं पहाड़ जितने खूबसूरत होते हैं वहाँ रहने वाले लोगों के चेहरों पर भी वही खूबसूरती दिखाई देती है। आज हम बात कर रहे हैं उत्तराखण्ड की वादियों और वहाँ की महिलाओं की खूबसूरती और मासूमियत को राष्ट्रीय पटल पर प्रदर्शित करने वाली एक व्यक्ति विशेष के बारे में। प्रत्यक्ष को प्रमाण की आवश्यकता नहीं होती है, पहले उर्वशी रौतेला और अब अनुकृति गुसाईं उत्तराखण्ड की इन बेटियों ने साबित कर दिया की प्रकृति ने उत्तराखण्ड को असीम सौंदर्य प्रदान किया है।

आज हम आपको बताने जा रहे हैं बुलन्द हौसले और सकारात्मक सोच रखने वाली अनुकृति गुसाईं की जिसने कलर्स मिस इंडिया उत्तराखण्ड 2017 का खिताब अपने नाम की और मिस ग्रैंड इंटरनेशनल में भारत का प्रतिनिधित्व कर चुकी हैं। अनुकृति का जन्म उत्तराखण्ड के लैंसडाउन में हुआ जो कि एक सैनिक छावनी है। बचपन से ही सैन्य वातावरण में पली-बढ़ी अनुकृति के जीवन में अनुसाशन का विशेष महत्व रहा है।

प्रत्येक बच्चे की तरह अनुकृति का बचपन उनके जीवन का सबसे खूबसूरत हिस्सा था। बचपन से ही अनुकृति अपने देश अपने राज्य का नाम रोशन करने का सपना देखने लगी। अनुकृति बताती हैं कि “मैं बहुत महत्वाकांक्षी और मेहनती हूँ और मैंने कभी अपने सपनों का पीछा करना नहीं छोड़ा और
यही कारण रहा कि मैं अपने सपनों को पूरा करने में सक्षम हुई।”

उनकी प्रारम्भिक शिक्षा लैंसडाउन और आगे की शिक्षा देहरादून में सम्पन्न हुई। अनुकृति शुरुआत से ही पढ़ाई में बहुत होशियार रही हैं। उदाहरण के तौर पर वे अपने स्कूल की टॉपर रही तो वहीं यूनिवर्सिटी में भी उन्होंने टॉप किया है। NTI से ख़ास बातचीत में उन्होंने अपने स्कूल और कॉलेज की यादें साझा करते हुए बताया कि “मेरे स्कूल और कॉलेज जीवन की लाइफ मेरे लिए बहुत ख़ास है। मैंने हमेशा से पढ़ाई को प्राथमिकता दी है। इंजीनियरिंग में मैंने यूनिवर्सिटी टॉप की थी और मुझे अभी भी याद है जब मैं पूरी रात पढ़ाई किया करती थी। मैं दिन में लगभग 8 घंटे पढ़ाई करती थी जो अब मुझे एक सपने की तरह लगता है। एक छोटे शहर से ताल्लुक़ रखने की वज़ह से मैंने शैक्षिक सुविधाओं को प्राप्त करने में कई चुनौतियों का सामना किया है लेकिन मैंने हमेशा अपने सपनों से ज्यादा अपने आप पर विश्वास किया। मेरे माता-पिता ने हमेशा मेरा साथ दिया और मुसीबत की हर घड़ी में मैंने उन्हें हमेशा मेरे पक्ष में खड़ा पाया। वे मेरी बैकबोन हैं।”

अनुकृति के माता-पिता के संस्कार ही है जिन्होंने उन्हें जीवन मूल्यों और नैतिकता का पाठ पढ़ाया। अनुकृति ने सौंदर्य प्रतियोगिताओं में अपने रुझान के चलते साल 2013 से सक्रीय रूप से भाग लेना शुरू किया और फेमिना मिस इंडिया दिल्ली की विजेता बनी। उसके बाद अनुकृति ने फेमिना मिस इंडिया के फ़ाइनल राउंड तक का सफ़र तय किया। उनका उत्साह बढ़ता गया और अपनी मंजिल की तरफ बढ़ते हुए वो एशिया पेसिफिक वर्ल्ड 2014 की चौथी रनरअप रही।

अनुकृति ने अपनी सशक्त और सकारत्मक छवि के चलते विभिन्न सौंदर्य प्रतियोगिताओं का ख़िताब अपने नाम किया। भारत और उत्तराखण्ड की जनता ने भी उन्हें बहुत सराहा। अनुकृति अभी तक के सफ़र के बारे में उनकी सबसे खास बात बताते हुए कहती हैं “मुझे लगता है कि खूबसूरत मुस्कुराहट के साथ सुंदर होना ईश्वर का अनुपम उपहार है और जब लोग आपके काम की सराहना करते हैं, आपके प्रयासों , गुणों और आपकी मेहनत को समझने लगते हैं तो बहुत अच्छा लगता है। और मेरे लिए तोे देश का प्रतिनिधित्व करने से ज्यादा गौरवशाली बात कोई नहीं है। भारत का प्रतिनिधित्व करने वाले क्षणों में मुझे गर्व से भर दिया और सशक्तिकरण की ऊर्जा प्रदान की।”

साल 2017 में अनुकृति ने मिस इंडिया उत्तराखण्ड का ताज अपने नाम किया। उसके बाद मिस इंडिया ग्रैंड का ख़िताब, सफलता का दौर चलता रहा और उन्होंने आगे बढ़ते हुए मिस ग्रैंड इन्टरनेशनल 2017 में भारत का प्रतिनिधित्व करते हुए टॉप 20 में अपनी जगह बनाई। अपनी सफलता और असफलता को आगे बढ़ने की सीढ़ी मानते हुए वो कहती हैं कि “मैं प्रत्येक व्यक्ति से प्रेरणा लेती हूँ। मैं बहुत ज्यादा भाग्यशाली हूँ क्योंकि मुझे इतनी कम उम्र में विभिन्न क्षेत्रों में काम करने वाले लोगों से मिलने का सौभाग्य प्राप्त हो रहा है जो मुझे निरंतर आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करते हैं।

महिलाओं को निरंतर आगे बढ़ने की प्रेरणा प्रदान करने वाली अनुकृति ने भी आम लड़कियों की तरह प्रतिदिन होने वाली समस्याओं का सामना किया है। खुद को कई बार असुरक्षित अनुभव भी किया है लेकिन अनुकृति बताती हैं कि ” मैंने भी कई बार असहज अनुभव किया करती थी लेकिन मुझे लगता है कि मैं हमेशा अपने आत्मसम्मान को लेकर सजग रही। वैसे तो अनुकृति कई सोशल कार्यक्रमों से जुड़ी हुई हैं परन्तु विशेषकर वह सुविधाओं से वंचित बच्चों को शिक्षित करना अपना लक्ष्य मानती हैं क्योंकि शिक्षा ही देश के बेहतर भविष्य का निर्माण करने में सक्षम है।

About News Trust of India

News Trust of India is an eminent news agency

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ăn dặm kiểu NhậtResponsive WordPress Themenhà cấp 4 nông thônthời trang trẻ emgiày cao gótshop giày nữdownload wordpress pluginsmẫu biệt thự đẹpepichouseáo sơ mi nữhouse beautiful