मसानजोर डैम पर झारखंड व पश्चिम बंगाल में ठनी

दुमका। दुमका के मसानजोर डैम के स्वामित्व को लेकर झारखंड व पश्चिम बंगाल सरकार के बीच ठन गई है। यह डैम पांचवें दशक में कनाडा सरकार की मदद से झारखंड के दुमका के सदर प्रखंड मसानजोर व आसपास के 144 मौजा भू-भाग पर बनाया गया था। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सांसद निशिकांत दुबे ने सोमवार को इस मामले को संसद में उठाया।

मसानजोर डैम की ओर देखने वालों की आंख निकाल लेंगेः लुईस मरांडी 
दुमका की विधायक व समाज कल्याण मंत्री डॉ. लुईस मरांडी ने रविवार को मसानजोर पहुंच कर पश्चिम बंगाल सरकार को दो टूक कहा कि पहले वह एकरारनामा का डीड दिखाए फिर यहां के डैम पर अपना अधिकार जताए।डॉ. लुईस ने कहा कि डैम व यहां के ग्रामीणों पर निगाह डालने वालों की आंख निकाल लेंगे। उन्होंने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को चुनौती देते हुए कहा कि डीड की मियाद खत्म हो चुकी है इसलिए पश्चिम बंगाल सरकार अपनी हद में रहे।

डॉ. लुईस ने कहा कि पश्चिम बंगाल सरकार साजिश के तहत इस क्षेत्र में अपना राजनीतिक एजेंडा तय कर रही है। इसे किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। कहा कि वहां की सरकार ने जानबूझ कर झारखंड की जमीन पर पश्चिम बंगाल सरकार सरकारी रंग से मसानजोर डैम की दीवारों को रंगवाने का काम करा रही है और मुख्य पथ पर वेलकम बोर्ड में पश्चिम बंगाल सरकार का लोगो लगाकर अपना अधिकार जताने में लगी है।

मंत्री ने कहा कि उन्होंने मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से गुहार लगाई है। प्रधानमंत्री ने भी इसे गंभीरता से लिया है। इतना ही नहीं प्रधानमंत्री ने पूरे मामले में संज्ञान लेते हुए यहां के जल संसाधन विभाग को आवश्यक पहल करने का निर्देश दिया है।

भाजपा कार्यकर्ताओं ने रुकवाया काम, सनहा दर्ज 
तीन दिन पूर्व भाजपा कार्यकर्ताओं ने मसानजोर डैम की दीवारों पर चल रहे रंग रोगन के काम को यह कहते बंद करा दिया था कि किसी भी सूरत में पश्चिम बंगाल सरकार के सरकारी रंग को यहां नहीं चढ़ने दिया जाएगा। भाजपा कार्यकर्ताओं के इस कदम की जानकारी जब पश्चिम बंगाल सरकार और वहां के मुख्यमंत्री ममता बनर्जी तक पहुंची तो तीन अगस्त को वहां के जल संसाधन विभाग के मसानजोर में पदस्थापित एसडीओ के माध्यम से मसानजोर स्थित ओपी में इस घटना के विरुद्ध एक सनहा (एफआइआर) दर्ज कराया गया।

झारखंड की जमीन पर पश्चिम बंगाल की यह जबरदस्ती बर्दाश्त करने योग्य नहीं है। मसानजोर डैम झारखंड की जमीन पर है और इससे यहां की जनता की भावना जुड़ी है। यहां के डैम विस्थापित के हक व अधिकार की लड़ाई उनके स्तर से लंबे अर्से से लड़ी जा रही है।
-डॉ. लुईस मरांडी, समाज कल्याण मंत्री, झारखंड।

भाजपा वेट एंड वाच की स्थिति में
सोमवार को मसानजोर डैम प्रकरण में वहां कोई भी गतिविधि दोनों राज्यों की ओर से नहीं है। दोनों राज्यों की प्रशासन भी मौन है। भाजपा या तृणमूल कांग्रेस की ओर से भी कोई बयानबाजी नहीं हुई है। भाजपा के कार्यकर्ता भी फिलहाल वेट एंड वाच की स्थिति में हैं, जबकि पश्चिम बंगाल के जल संसाधन विभाग ने भी डैम के रंगरोगन का काम दोबारा शुरू नहीं कराया है।

सांसद निशिकांत ने ममता बनर्जी पर साधा निशाना
इधर, सोमवार को भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने संसद में मसानजोर डैम विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जज से निष्पक्ष जांच कराने की मांग की है। निशिकांत ने कहा कि मसानजोर डैम पर अब पश्चिम बंगाल का जोर नहीं चलने दिया जाएगा। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर चुटकी लेते हुए कहा कि प्रधानमंत्री बनने का सपना देख रहीं ममता दीदी की नियत में अभी से खोट है। मसानजोर डैम पर जबरन अधिकार जताने में लगी हैं। छोटे राज्यों के प्रति उनकी यह मानसिकता अभी से ऐसी है तो अगर गलती से ममता दीदी पीएम बन गईं तो न जाने क्या करेंगी। निशिकांत ने इस मामले में झारखंड को वाजिब हक देने की मांग की है।

About News Trust of India

News Trust of India न्यूज़ ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!

ăn dặm kiểu NhậtResponsive WordPress Themenhà cấp 4 nông thônthời trang trẻ emgiày cao gótshop giày nữdownload wordpress pluginsmẫu biệt thự đẹpepichouseáo sơ mi nữhouse beautiful