लगातार रिकॉर्ड पर रिकॉर्ड बना रहे स्टॉक बाजार की अचानक हालत खराब हो गई. बजट ने उसे जोर का झटका दे  दिया है. शेयरों से कमाई पर लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन टैक्स ने ऐसे लोगों का मूड खराब किया कि बाजार आज औंधे मुंह गिर गया.

आज की गिरावट में निवेशकों के करीब 5 लाख करोड़ रुपये स्वाहा हो गए. सेंसेक्स और निफ्टी 2.25 फीसदी से ज्यादा गिरकर बंद हुए हैं. आज निफ्टी ने 10,736.1 तक गोता लगाया जबकि सेंसेक्स 35,006.41 तक टूट गया था.

मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों में भी मारकाट मची रही. बीएसई का मिडकैप इंडेक्स 4 फीसदी गिरकर 16,575 के स्तर पर बंद हुआ है. निफ्टी का मिडकैप 100 इंडेक्स 4.3 फीसदी लुढ़क कर 19,760.4 के स्तर पर बंद हुआ है. बीएसई का स्मॉलकैप इंडेक्स 4.7 फीसदी की कमजोरी के साथ 17,850 के नीचे बंद हुआ है. निफ्टी का स्मॉलकैप इंडेक्स 6 फीसदी टूटकर 8,251 के स्तर पर बंद हुआ है.

आईटी सेक्टर को छोड़ सभी सेक्टर इंडेक्स में जोरदार गिरावट दिखी है. बैंक निफ्टी 2.8 फीसदी की कमजोरी के साथ 26,451 के स्तर पर बंद हुआ है. निफ्टी के ऑटो इंडेक्स में 3.4 फीसदी, मीडिया इंडेक्स में 3.5 फीसदी, मेटल इंडेक्स में 3 फीसदी, फार्मा इंडेक्स में 1.25 फीसदी, पीएसयू बैंक इंडेक्स में 2.9 फीसदी और प्राइवेट सेक्टर बैंक इंडेक्स में 3 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है.

बीएसई के कैपिटल गुड्स इंडेक्स में 3.6 फीसदी, कंज्यूमर ड्युरेबल्स इंडेक्स में 3.4 फीसदी, पावर इंडेक्स में 4 फीसदी, रियल्टी इंडेक्स में 6.3 फीसदी और ऑयल एंड गैस इंडेक्स में 3 फीसदी की कमजोरी आई है. बीएसई का 30 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 840 अंक यानि 2.3 फीसदी की गिरावट के साथ 35,067 के स्तर पर बंद हुआ है। एनएसई का 50 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी 256.3 अंक यानि 2.3 फीसदी गिरकर 10,760.6 के स्तर पर बंद हुआ है.