OPINION

क्या इन्वेस्टर्स समिट से पहाड़ के आएंगे अच्छे दिन ?

देहरादून। इन्वेस्टर्स समिट के जरिए उद्योगपतियों को उत्तराखंड आमंत्रित करने की योजना को  रफ्तार मिली, तो उम्मीद भी जगने लगी कि पहाड़वासियों के अब अच्छे दिन आने वाले हैं  और 2017 में कमलवालों ने सपनों का सौदागर बनकर पहाड़ पर जो सपने बेचे थे, वो सपने हकीकत में बदलने वाले हैं। सरकार के सूबेदार त्रिवेंद्र रावत का लक्ष्य है कि इनवेस्टर्स समिट के जरिए पहाड़ प्रदेश में 40 हजार करोड़ रुपए ...

Read More »

कांग्रेस, आखिर कैसे लगा पाएगी चुनावी नैया को पार

नई दिल्‍ली । लोकसभा चुनाव के बाद लगातार विधानसभा चुनाव में भी पिछड़ने वाली कांग्रेस के दिन आगे भी सुधरते दिखाई नहीं दे रहे हैं। यह हाल तब है जब आने वाले समय में राजस्‍थान, मध्‍य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में कांग्रेस अपने नेताओं की महत्‍वाकांक्षा के मकड़जाल में बुरी तरह से फंसती दिखाई दे रही ...

Read More »

फेयरनेस क्रीम का विज्ञापन हमें रंगभेदी बना रहा है !

काला या सांवला होना कोई बुरी बात नहीं पर भारतीय समाज में इसे दोयम दर्जे का स्थान दिया गया है। यहां गोरे रंग को सीधा सुंदरता से जोड़ दिया गया है। अगर आप गोरे हैं तो आपके पास ज़्यादा और अच्छे अवसर हैं, आपके ज़्यादा दोस्त हैं और आप ज़्यादा कॉन्फिडेंट हैं। पर अगर आपका रंग काला है या सांवला ...

Read More »

देश में अब व्यवस्थित तरीके से होने लगा है बलात्कार

(प्रीती कुमार ) बलात्कार की घटनाएं अब सूनी सड़कें, खाली बस, अंधेरी रात, अकेली लड़की, छोटे कपड़े इन सब बहस से कहीं आगे बढ़ चुकी है। अब बलात्कार व्यवस्थित तरीके से होता है। कैसे इसे समझने के लिए 15 साल राज करने वाले बिहार के मुख्यमंत्री के शब्दों में “व्यवस्था में फ्लॉ है।” व्यवस्थित तरीके से मेरा अभिप्राय है दो ...

Read More »

आखिर क्या वजह जो मराठा आरक्षण की मांग !

महाराष्ट्र में मराठा सड़कों पर हैं, वजह है आरक्षण… उनकी मांग है कि जो 72 हजार नौकरियों की भर्ती निकली है उसमें उनको आरक्षण दिया जाए..हाई कोर्ट ने फिलहाल नए प्रावधानों पर रोक लगा रखी है. मौजूदा प्रावधानों के अलावा किसी भी रिजर्वेशन पर रोक लगी हुई है इसलिए राज्य सरकार के पास काफी कम विकल्प बचे हैं. मराठों को ...

Read More »

उद्योगपतियों की तारीफ में PM और देश में विकास की हकीकत

प्रधानमंत्री की यह बात बिल्कुल सही है कि उद्योगपति देश के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करते हैं, उन्हें चोर-लुटेरे समझना या कहना ठीक नहीं और उनके साथ रिश्ते रखने में कोई बुराई नहीं. हो सकता है, उनका यह आरोप भी सच हो कि जो लोग सार्वजनिक जीवन में उद्योगपतियों से दूरी बरतते हैं, वे चुपचाप उनके घरों में जाकर ...

Read More »

राफेल क्या बीजेपी का बोफोर्स बनेगा…?

आजकल इस बात की बड़ी चर्चा है कि कांग्रेस राफेल मुद्दे को इतनी जल्दी छोड़ने वाली नहीं है. पार्टी इस मुद्दे को 2019 के लोकसभा चुनाव तक जिंदा रखने की रणनीति बना रही है. कांग्रेस को लगता है कि यह रक्षा से जुड़ा मामला है. अधिक पैसा देने की बात है और राफेल बनाने का ठेका एक निजी कंपनी को ...

Read More »

बुराई के रास्ते का चेहरा आत्ममुग्धता से भरा हुआ

– भूपेश पंत, News Trust of India एक था अच्छाई का रास्ता। एक वक़्त था जब ये रास्ता गुलज़ार रहा करता था। सुबह से शाम तक लोगों की चहलकदमी से। कोई रास्ते की मज़ार पर चादर चढ़ाने जाता तो कोई भगवान की चौखट पर माथा टेकने। एक प्राइमरी स्कूल भी इसी रास्ते पर था। चहकते बच्चों का कलरव माहौल में ...

Read More »

कैसे चल रही है माओवादियों की आर्थिक दुनिया?

सवाल उठता है कि माओवादियों को धन कौन दे रहा है या यों कहें कि माओवादियों की आर्थिक दुनिया किस तरह चल रही है? नक्सल प्रभावित इलाकों में अभियान पर उतरी सुरक्षा एजेंसियों और सरकार दोनों को यह सवाल एक लंबे अरसे से परेशान करता रहा है. साल 2016 के 8 नवंबर को नोटबंदी का एलान हुआ तो उम्मीद बांधी गई ...

Read More »

एक दिमाग़ की मौत

भूपेश पंत, न्यूज़ ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया कहते हैं कि भीड़ का अपना दिमाग नहीं होता लेकिन ये भी सच है कि हर तरह की भीड़ के पीछे कोई न कोई दिमाग़ ज़रूर होता है। वो दिमाग़ कैसा और किसका होगा ये जानने की उत्सुकता एक रात मुझे आधी रात को शहर के उस अंधेरे कोने में ले आयी। अंधेरे को ...

Read More »
error: Content is protected !!

ăn dặm kiểu NhậtResponsive WordPress Themenhà cấp 4 nông thônthời trang trẻ emgiày cao gótshop giày nữdownload wordpress pluginsmẫu biệt thự đẹpepichouseáo sơ mi nữhouse beautiful