Templates by BIGtheme NET

OPINION

उत्तराखंड के विकास मॉडल को तत्काल बदलना जरुरी

(मोहन भुलानी, न्यूज़ ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया) उत्तराखंड की परिस्थितियों को ध्यान में रखकर विकास की नीतियां बनाई जाने की जरूरत है। उत्तराखंड में कोई भी विकास की योजना लोगों, वहां के पेड़, भू-भौतिकी और इकोलॉजी को ध्यान में रखकर ही बननी चाहिए। पर जो वर्तमान विकास का मॉडल अपनाया गया है, वह विनाशकारी साबित हो रहा है। पहाड़ों में विनाशकारी ...

Read More »

पहाड़ी राज्य की सरकार – पहाड़ चढ़ने को नहीं तैयार

आज पहाड़ी राज्य उत्तराखंड अपनी स्थापना के 17 साल पूरे कर रहा है लेकिन उत्तराखंड को आज भी स्थायी राजधानी नहीं मिल पायी है। उत्तराखड को अलग राज्य बनाने की मांग इसलिए महसूस हुई थी क्योंकि राज्य के पहाड़ी इलाके शिक्षा, रोजगार, स्वास्थ्य जैसी मूलभूत सुविधाओं के लिए संघर्ष कर रहे थे। यानी उत्तराखंड राज्य की मांग का मतलब ही ...

Read More »

5 साल की AAP – कितना भरोसा और कितनी निराशा !

भ्रष्टाचार के खिलाफ आंदोलन के गर्भ से निकली आम आदमी पार्टी ने 26 नवंबर, 2017 को अपने पांच वर्ष पूरे कर लिए. स्थापना दिवस के पांचवें साल का उत्सव मनाने के लिए रामलीला मैदान में विशाल जनसभा का आयोजन किया गया. देश भर के कार्यकर्ताओं के जमावड़े के बीच नेताओं के संबोधन हुए. एक तरफ जहां भाषणों में सब कुछ ...

Read More »

राहुल गाँधी के नेतृत्व में इतिहास बनकर ना रह जाए कॉंग्रेस

news trust of india rahul gandhi for congress president

(मोहन भुलानी, न्यूज़ ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया) 1885 में गठित भारतीय राष्ट्रीय कॉंग्रेस पार्टी में नए अध्यक्ष को लेकर न तो अटकलें हैं और न ही जिज्ञासाएं क्योंकि यह तय मानकर चला जा रहा है कि यह पद किसे दिया जाएगा बस अब इसकी विधिवत प्रक्रिया के तहत घोषणा होना शेष है। अन्य राजनीतिक दल (व्यक्ति प्रधान क्षेत्रीय दलों को छोड़कर) ...

Read More »

बेसहारों का फुटपाथ पर चलने वाला अस्पताल

दिल्ली में एक अस्पताल ऐसा भी है, जो मानवता की सच्ची मिसाल पेश कर रहा है। इस अस्पताल का सारा जिम्मा कमलजीत सिंह और उनकी टीम उठाती है। कमलजीत पिछले 25 सालों से दिल्ली में 7 अलग-अलग जगहों पर फुटपाथ क्लिनिक की सेवाएं मुफ्त देते हैं। चांदनी चौक के इलाके में कोई भी गरीब या बेसहारा बीमार या चोटिल होता है ...

Read More »

उग्र हिंदुत्व और वैकल्पिक राजनीति के अभाव में अटका देश

(By अजय गुदावर्ती) संघ परिवार की रणनीति में भारी विरोभास है. एक तरफ वे आधुनिकता के सिरे से पूंजीवादी व्यवस्था जिसमें बुलेट ट्रेन और विकास की अवधारणा को प्रतीक के तौर पर पेश किया जाता है और दूसरी तरफ खुद ही पूंजीवादी विकास बनाने के लिए जरूरी समाजिक समरसता के माहौल को बर्बाद करते हैं. यही विरोधाभास भारत में दक्षिणपंथियों का ...

Read More »

गुजरात की राजनीति में प्रवीण तोगड़िया का उदय और अंत

(हरबंश सिंह) साल 1995 में, भाजपा की सरकार गुजरात में बन चुकी थी, इस सरकार की सबसे बड़ी बात थी कि कुछ आम लोगों को जनता ने चुनकर सत्ता की गद्दी पर बिठाया था। इस सरकार के निर्माण में बहुत से ऐसे लोग थे जो ना ही सरकार में शामिल थे और ना ही परोक्ष या अपरोक्ष रूप से किसी ...

Read More »

भारतीय छात्रों में अमेरिका जाने की होड़

अप्रवासियों के प्रति अप्रिय माहौल के बीच ट्रंप प्रशासन ने वीसा कानूनों को सख्त बनाने की कोशिश की है. फिर भी भारत अपनी युवा प्रतिभाओं को अमेरिका के विश्वविद्यालयों का रुख करने से रोक पाने में असफल हो रहा है. जानकार बताते हैं कि निचले रैंक के भारतीय विश्वविद्यालयों, स्तरहीन पाठ्यक्रम और देश में नौकरी की सीमित संभावनाएं छात्रों के ...

Read More »

मध्यस्थता के पुराने असफल खिलाड़ी हैं श्री श्री रविशंकर

news trust of india-sri sri ravishankar

दिल्ली में यमुना के कछार में विश्व सांस्कृतिक महोत्सव कर यमुना की तराई को अपूरणीय क्षति पहुंचा चुके आध्यात्मिक गुरू श्री श्री रविशंकर अब अयोध्या के रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद में मध्यस्थता कर रहे हैं. उपरोक्त बातें नेशनल ग्रीन ट्राइब्युनल ने समय-समय पर अपनी सुनवाई के दौरान श्री श्री और उनके संगठन आर्ट ऑफ लिविंग के बारे में कही हैं. राम ...

Read More »

बेड़ियों में जकड़ा बचपन..?

यूएन की रिपोर्ट कहती है कि 2016 में रोज़ाना 15,000 हज़ार बच्चे अपना 5वां जन्मदिन भी नहीं मना सके. यानी 5 साल से कम उम्र के 7000 बच्चों की रोजाना मौत होना दर्ज की गई. इनमें से 46 फीसदी यानी करीब 7,000 बच्चों की आंखें अपने जन्म के 28 दिनों के भीतर ही बंद हो गईं. हालांकि 2016 के दौरान बाल ...

Read More »

ăn dặm kiểu NhậtResponsive WordPress Themenhà cấp 4 nông thônthời trang trẻ emgiày cao gótshop giày nữdownload wordpress pluginsmẫu biệt thự đẹpepichouseáo sơ mi nữhouse beautiful