मोदी सरकार ने चला सबसे बड़ा चुनावी दांव

नई दिल्ली: वित्त मंत्री अरुण जेटली ने संसद में बजट भाषण पेश करते हुए दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना का ऐलान कर दिया है. इसके तहत अब देश के 50 करोड़ लोगों को इलाज के लिए 5 लाख रुपये तक कैशलेस सुविधा दी जाएगी. यह ऐलान मोदी सरकार की ओर से अभी तक का सबसे बड़ा ऐलान हो सकता है. इसके साथ ही यह चुनावी हथियार हो भी सकता है. वित्त मंत्री  ने भाषण की शुरुआत करते हुए कहा कि पॉलिसी पैरालिसिस को बदल डाला है. हमने बुनियादी संरचनात्‍मक सुधार किए हैं. नोटबंदी की वजह से काले धन में कमी आई है. उन्होंने कहा कि दूसरे दौर में 7.5 फीसदी विकास दर की उम्‍मीद है. इसके साथ ही कई सरकारी योजनाओें का जिक्र किया है. उन्होंने कहा कि उज्जवला योजना के तहत उज्जवला योजना के तहत अब मिलेंगे 8 करोड़ मुफ्त गैस कनेक्शन दिए गए हैं. सौभाग्य योजना के तहत 4 करोड़ गरीब घरों को मुफ्त बिजली दी जाएगी.

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आज कहा कि चालू वित्त वर्ष की दूसरी छमाही में भारतीय अर्थव्यवस्था 7.2 से 7.5 प्रतिशत की दर से आगे बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि भारत दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की राह पर है। लोकसभा में वित्त वर्ष 2018-19 का आम बजट पेश करते हुए वित्त मंत्री ने कहा कि मौजूदा सरकार के कार्यकाल में पिछले तीन साल में भारत की औसत वृद्धि दर 7.5 प्रतिशत रही है। भारत अब 2.5 लाख करोड़ डॉलर की अर्थव्यवस्था बन चुका है। जेटली ने कहा कि हमें उम्मीद है कि चालू वित्त वर्ष की दूसरी छमाही में भारतीय अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर 7.2-7.5 प्रतिशत रहेगी। उन्होंने कहा कि भारत पहले ही दुनिया की सातवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन चुका है। अब यह पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की राह पर है.

आम बजट (Union Budget) 2018: केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने 2018-19 के आम बजट में इनकम टैक्स के स्बैल में किसी तरह का बदलाव नहीं किया है। मौजूदा समय में 2.50 लाख रुपए की सालाना कमाई पर किसी तरह का टैक्स नहीं लगता और 2.51 लाख रुपए से 5 लाख रुपए तक की सालाना कमाई पर 5 प्रतिशत और 5 लाख रुपए से 10 लाख रुपए तक की सालाना कमाई पर 20 प्रतिशत टैक्स वसूला जाता है। वहीं 10 लाख रुपए से ऊपर के टैक्स स्लैब पर 30 प्रतिशत टैक्स का प्रावधान है। हालांकि वित्त मंत्री ने 40 हजार रुपए तक की स्टैंडर्ड डिडक्शन की घोषणा की है। यानि सालाना आधार पर जितनी सैलरी होगी उसमें से 40000 रुपए घटाने पर टैक्स की गणना की जाएगी।

मान लिया जाए किसी का सालाना वेतन 6 लाख रुपए है, तो उसको 2.5 लाख रुपए तक की कमाई पर किसी तरह का टैक्स नहीं होगा, इसके अलावा 40000 रुपए की अलग से छूट होगी। बाकी बचे 3.10 लाख रुपए में से अगर किसी तरह का निवेश, होमलोन या टैक्स बचाने के लिए कोई दूसरा साधन नहीं होगा तो उस कमाई पर टैक्स लगेगा।

विदेशी मोबाइल फोन महंगे

वित्त मंत्री ने  मोबाइल फोन के आयात पर लगने  वाले आयात शुल्क को 15 प्रतिशत से बढ़ाकर 20 प्रतिशत करने का ऐलान किया है, इस  घोषणा के बाद विदेशों से आने वाले मोबाइल फोन की कीमत बढ़ जाएगी। हालांकि देश में बनने वाले मोबाइल फोन सस्ते दाम पर मिलेंगे।

किसानों को बड़ा तोहफा

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने साफ कर दिया है कि 2018-19 का  बजट किसानों के हक का बजट होगा। उन्होंने अपने बजट भाषण की शुरुआत में ही कह दिया है कि खरीफ फसलों का समर्थन मूल्य को फसल उत्पादन की लागत से डेढ़ गुना बढ़ाया जाएगा। खरीफ सीजन में सबसे ज्यादा धान, मक्का, सोयाबीन, कपास, बाजरा, रागी, तुअर, उड़द और मूंग का उत्पादन होता है। इन सभी फसलों के समर्थन मूल्य में आने वाले समय में जोरदार बढ़ोतरी हो  सकती है।

फिलाहल सामान्य धान का समर्थन मूल्य 1550 रुपए, ए ग्रेड धान का समर्थन मूल्य 1590 रुपए, मीडियम स्टेपल कपास का समर्थन मूल्य 4020 रुपए, लॉन्ग स्टेपल कपास का समर्थन मूल्य 4320 रुपए, मक्का का समर्थन मूल्य 1425 रुपए, तुअर का समर्थन मूल्य 5450 रुपए, उड़द का MSP 5400 रुपए,मूंग का MSP 5575 रुपए, बाजरा का MSP 1425 रुपए और रागी का MSP 1900 रुपए प्रति क्विंटल है। इन सभी फसलों के समर्थन मूल्य में आने वाले दिनों में जोरदार बढ़ोतरी हो सकती है।

10 करोड़ परिवारों को सालाना 5 लाख रुपए

वित्त मंत्री ने गरीब और निचले मध्यम वर्ग की स्वास्थ सुविधाओं पर खर्च को लेकर बड़ी घोषणा की है। वित्त मंत्री ने कहा है कि राष्ट्रीय स्वास्थ संरक्षण योजना के तहत देश के 10 करोड़ परिवारों को स्वास्थ संबंधी खर्चों के लिए सालाना 5 लाख रुपए की मदद की जाएगी। 10 करोड़ परिवार में औसतन करीब 50 करोड़ आबादी आती है। यानि देश की आबादी के करीब 40 प्रतिशत हिस्से को यह फायदा पहुंचेगा। यह विश्व कि  सबसे बड़ी स्वास्थ योजना होगी। इसके अलावा टीवी मरीजों को हर महीने अपने खर्च के लिए 500 करुए दिए जाने की घोषणा भी हुई है।

EPF में सरकार करेगी 12 प्रतिशत योगदान

वित्त मंत्री ने घोषणा की है कि सभी सेक्टर के नए कर्मचारियों के लिए सरकार की तरफ से कर्मचारी भविष्य निधी में 12 प्रतिशत का योगदान किया जाएगा।

राष्ट्रपति सहित उपराष्ट्रपति और राज्यपाल के वेतन में बढ़ोतरी

राष्ट्रपति के वेतन को बढ़ाकर 5 लाख रुपए मासिक, उपराष्ट्रपति के वेतन को बढ़ाकर 4 लाख रुपए और राज्यपाल के वेतन को बढ़ाकर 3.5 लाख रुपए किया गया है। वित्त मंत्री ने सांसदों के वेतन की बढ़ोतरी के लिए भी कानून  बनाने की बात कही है, हर 5 साल में सांसदों के वेतन पुनर्रविचार किया जाएगा।

​छोटी कंपनियों को कार्पोरेट टैक्स में राहत

वित्त मंत्री ने छोटी कंपनियों को कार्पोरेट टैक्स से राहत देने का ऐलान किया है, जिन कंपनियों का सालाना टर्नओवर 250 करोड़ रुपए से कम होगा उनसे 25 प्रतिशत कार्पोरेट टैक्स वसूला जाएगा।

About News Trust of India

News Trust of India न्यूज़ ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!

ăn dặm kiểu NhậtResponsive WordPress Themenhà cấp 4 nông thônthời trang trẻ emgiày cao gótshop giày nữdownload wordpress pluginsmẫu biệt thự đẹpepichouseáo sơ mi nữhouse beautiful